आप पहले कोई बात समझ लें, फिर कोई वादा करें। आपके सामने कुछ बातें या ऐसी स्थितियां बन सकती हैं जो अपेक्षा से अलग हो सकती हैं। कुछ लोग आपका विरोध भी कर सकते हैं। कुछ लोगों के साथ गलतफहमी भी हो सकती है। अपने ही लोग किसी बात पर आपको दोष दे सकते हैं।