जमीनजायदाद के मामलों में उलझनें बढ़ने की संभावना है। आप किसी को फालतू राय न दें। थकान महसूस कर सकते हैं। टेंशन हो सकती है। किसी बात का डर भी रह सकता है।